18 June 2024
द्रोणाचार्य पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता हैं?

द्रोणाचार्य पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता हैं?

अगर आप खेल जगत से जुड़े या फिर थोड़ी बहुत भी इससे जुड़ी जानकारी रखते हैं तो शायद आप खेल जगत में मिलने वाले पुरस्कारों के बारे में भी जानते होंगे, उन्ही में से एक पुरस्कार हैं द्रोणाचार्य पुरस्कार जिसके बारे में बहुत सारे लोगों में अलग अलग प्रकार के सवाल उठते रहते हैं।

उनमें से एक ये भी हैं की द्रोणाचार्य पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता हैं (Dronacharya Puraskar Kis Kshetra Mein Diya Jata Hai) और साथ ही द्रोणाचार्य अवार्ड किसको दिया जाता हैं

तो अगर आप द्रोणाचार्य पुरस्कार से जुड़े इन सारे सवालों के जवाब पाना चाहते हैं तो आज के हमारे इस ब्लॉग पोस्ट को अंत तक पढ़िए और जानिए नई नई चीजें।

द्रोणाचार्य पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता हैं?

द्रोणाचार्य पुरस्कार खेल जगत में मिलने वाला एक काफ़ी प्रसिद्ध और उच्च दर्जे का अवार्ड हैं जो भारत के उन कोचों (Coach) को दिया जाता हैं, जिन्होंने अपने निरीक्षण में खिलाडियों को ट्रेनिंग दी हो और खिलाड़ी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफल होने में मदद करी हो।

Dronacharya Puraskar Kis Kshetra Mein Diya Jata Hai

Dronacharya Puraskar का भारत में बहुत महत्व हैं, जिन भी कोच को ये अवार्ड प्राप्त होता हैं वो खेल जगत में अपना काफ़ी योगदान दे चुके होते हैं।

ये अवार्ड हर साल Ministry of Youth Affairs and Sports के द्वारा चुनिंदा गुणवान कोचो (Coach) को दिया जाता हैं।

द्रोणाचार्य पुरस्कार के प्रकार (Categories of Dronacharya Award )

हां, एक बात अपको जरूर पता होना चाहिए की द्रोणाचार्य पुरस्कार दो श्रेणियों के कोचो को दिया जाता हैं;

  • उपयोगी द्रोणाचार्य पुरस्कार
  • आजीवन द्रोणाचार्य पुरस्कार

उपयोगी द्रोणाचार्य पुरस्कार क्या हैं?

उपयोगी द्रोणाचार्य पुरस्कार (Dronacharya Puraskar) का ही एक श्रेणी हैं, जो उन कोचों को दिया जाता हैं, जिनके द्वारा ट्रेंड किए गए खिलाड़ी लगातार पिछले चार साल से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफ़ल हुए हों।

आजीवन द्रोणाचार्य पुरस्कार क्या हैं?

आजीवन द्रोणाचार्य पुरस्कार उन चुनिंदा कोचों को दिया जाता हैं, जिन्होंने 20 साल से ज्यादा समय तक खेल जगत में अपना योगदान दिए हो और खिलाड़ियों को सफ़ल बनाए हों।

पहला द्रोणाचार्य पुरस्कार किसे मिला था?

भारत में सबसे पहले द्रोणाचार्य पुरस्कार भलाचंद्र भास्कर भागवत को सन् 1985 में राष्ट्रपति के द्वारा के द्वारा दिया गया था,भलाचंद्र भास्कर भागवत Wrestling यानी की कुश्ती के खेल के कोच थे।

भारत के राष्ट्रीय खेल पुरस्कार कौन कौन से हैं?

भारत में मुख्य तौर से छः (6) राष्ट्रीय खेल पुरस्कार हैं, जो खेल जगत में अलग अलग कारनामे करने पर दिए जाते हैं, और वो ये हैं;

  • खेल रत्न पुरस्कार
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार
  • अर्जुन पुरस्कार
  • मेजर ध्यानचंद पुरस्कार
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद ट्रॉफी पुरस्कार
  • राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार

निष्कर्ष

तो दोस्तों ये था हमारा आज का एक छोटा और बेहतरीन ब्लॉग पोस्ट जिसमे हमने आपको द्रोणाचार्य पुरस्कार से जुड़े कई सारे सवालों के जवाब बताए, जो आपको जरूर पता होना चाहिए।

अगर आपको हमारा ये द्रोणाचार्य पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता हैं (Dronacharya Puraskar Kis Kshetra Mein Diya Jata Hai)  का पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया अकाउंट्स पर शेयर करके और लोगों को इसके बारे में बताएं।

द्रोणाचार्य पुरस्कार कब और किसके द्वारा दिया जाता हैं?

द्रोणाचार्य पुरस्कार हर साल राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा चुनिंदा कोचों को दिया जाता हैं, जिन्होंने खेल जगत में अपना बेहतरीन योगदान दिया हो।

द्रोणाचार्य पुरस्कार में कितने पैसे मिलते हैं?

जिन भी कोच को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया जाता हैं, उनको पुरस्कार के साथ साथ 15 लाख रुपए की धनराशि भी प्रदान की जाती हैं।

द्रोणाचार्य पुरस्कार का नाम द्रोणाचार्य पुरस्कार क्यों हैं?

इस पुरस्कार का नाम महाभारा से लिया गया हैं, महाभारत में द्रोणाचार्य पांचों पांडवों के गुरु थे, और इन्होंने ही पांचों को धनुर्विद्या सिखाया और उनका कौशल बढ़ाया, इसलिए उन्ही के नाम पर इस पुरस्कार का नाम रखा गया, जिससे सभी उत्कृष्ट गुरुओं को एक सम्मान दिया जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *